राम मंदिर निर्माण पर सर संघ चालक श्री मोहन जी भगवत ने कह दी ऐसी बात, सुनकर हर सनातनी प्रसन्ता से झूम उठेगा। …

राम राम जी, आपके अपने वेब पोर्टल ड्रेस प्लेनेट में हार्दिक सवागत है, मित्रों इस वर्तमान समय में पुरे देश में 2019 लोक सभा चुनाव को लेकर हर पार्टी की और से जोर शोर की तैयारियां चल रही है, हर पार्टी अपनी और से पूरा जोर शोर लगा कार चुनाव की तैयारी कर रही है, हर पार्टी के नेता एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे है और प्रत्याशियों को भी अपनी और खींचने (लुभाने) का पूरा प्रयास भी कर रही है, इसके अलावा पार्टिया वोटरों को अपनी पार्टी के प्रति लुभाने में कोई कमी कस्र भी नहीं छोड़ रही है, 2019 लोक सभा महा चुनाव को लेकर पुरे देश भर की राजनीति वर्तमान समय में अपनी पूरे चरम सिमा पर चल रही है इसके अलावा राम मंदिर का मुद्दा भी काफी जोरों पर छाया हुआ है।

श्री राम मंदिर विवाद के मुद्दे को लेकर सरकार न्यायालय के आदेश की प्रतीक्षा कर रही है सरकार न्यायालय के निर्णय के बाद ही कोई निर्णय करने के मूड मे है, लेकिन आर. एस. एस. प्रमुख माननीय श्री मोहन जी भागवत ने कहा है कि अयोध्या मे राम मंदिर अवश्य ही बनेगा, लेकिन उसकी दिनांक के बारे मे उन्होने कुछ भी नहीं बताया है, अभी हाल ही मे अयोध्या मे विश्व हिन्दू परिषद के द्वारा धर्म सम्मेलन का आयोजन कराया गया था, और इस बैठक मे राममंदिर के एक प्रस्ताव को भी पारित कर सहमति दी गई थी, जहां पर संतो ने एक बार फिर से मोदी जी की सरकार को एक बार और प्रधान मंत्री के रूप मे देखने का आवाहन किया है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या मे श्री राम मंदिर के निर्माण को लेकर माननीय श्री मोहन जी भगवत ने कहा है कि आर. एस. एस. (RSS) अयोध्या मे राममंदिर के निर्माण के लिए विश्व हिन्दू परिषद का पूरा समर्थन करेगा, उन्होने कहा सरकार भी सही दिशा मे काम कर रही है, और इस धारणा को दूर करने के लिए सरकार के सहयोगी भी सही दिशा मे काम कर रही है, भगवत ने यह भी कहा कि अगर राम मंदिर का निर्माण हम नहीं करेंगे तो और कौन करेगा, उन्होने कहा कि हम राम मन्दिर को बनाएँगे परन्तु यह मत दाताओ के लिए नहीं होगा, उन्होने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के लिए अगर राम मन्दिर प्राथमिकता नहीं है तो उसके लिए सरकार को सोचना है कि डबल्यू एच आगे क्या करे, इसके आलावा भी सरकार ने वह उपस्थित सभी संतो का सम्मान करते हुए मंदिर बनाने का सार्थक प्रयास करने का वचन संतो को दया है !!!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *