मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर मंडरा रहा है ये बड़ा खतरा हो सकता है उल्ट फैर…!

आपके अपने वेब पोर्टल ड्रेस प्लेनेट में हार्दिक सवागत है, मित्रों देश में इस वक्त राजनीती अपने चरम पर क्योकि लोक सभा चुनाव 2019 को लेकर देश भर की हर पार्टी की और से जोरों से तैयारियाँ चल रही है. हर पार्टी अपनी और से चुनाव की तैयारी में पूरा ज़ोर लगा रही है. जिस भी पार्टी को देखो आज कल विवादित बयान बाजी करके चुनावी हेड लाइन में रहने का प्रयास कर रही है.

हर पार्टी के दिग्गज नेता व् उनके मेंबर्स एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे है और प्रत्याशियों को भी अपनी और खींचने का पूरा जोर लगा रहे ही ताकि उनकी पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी जी को मजबूती से टक्क्र दे सके इसके अलावा पार्टियाँ आम वोटरों को अपनी पार्टी के प्रति लुभाने में कोई आस्क नहीं छोड़ रही है, इसको देखते हुए भारत की राजनीती का यह अद्धये अपनी चरम सिमा पर पहुंच चूका है…!

PC – Via Google

हाल ही में मध्यप्रदेश में सवर्णो ने नोटा पर वोट दाल कर भाजपा हारवा दिया अब भाजपा किसी भी प्रकार का कोई ऐसा गलत कदम नहीं उठाना चाहती जिससे उसे 2019 में हर का सामना करने पड़े. बीएस यही एक कारण है जब मध्य प्रदेश में विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव करने की बरी आई तो भाजपा ने खान्ग्रेस के नेता एन.पीप्रजापती के विरुद्ध विजय शाह को चुनावी रण में उतारा है क्यों कि मध्य प्रदेश में बीजेपी नोटा के कारण बहुत ही कम अंतर से हार का सामना करना पड़ा था. और इसी वजह से वह हर मोड़ परखांग्रेस को चुनौती भी देना चाहती है.बीजेपी ( भारतीय जनता पार्टी ) के मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह से जब इस विषय में पूछा गया कि कांग्रेस के संख्या बल होने के बाद भी वह अपनी तरफ से उम्मीदवार क्यों उतार रहे है!तब उन्होंने कहा कि कांग्रेस मान्य परम्पराओं को तोड़ कर उनपर विश्वास करके उनको अपना मोहरा बना रही है ताकि आने एव लोक सभा चुनाव में कोई गलती की गुंजाईश न रह जाए !

PC – Via Google

वन्ही पर खान्ग्रेस के दिग्गज मंत्री पी. सी. शर्मा ने इस बारे में हमे बताया है कि भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष पद पर अपने मेंबर को उतारकर विधान सभा की परम्पराओं को भी तोड़ रही है, मित्रों अगर बीजेपी अध्यक्ष पद के लिए एक चुनाव लड़ेगी तो उन्हें एक उपाध्यक्ष का पद भी नहीं मिल पायेगा, आने वाले2019 लोक सभा चुनाव के लिए ही मध्य प्रदेश में भी राजनीति अपनी चरम सिमा पर है, और भाजपा इस बार लोक सभा चुनाव में किसी प्रकार छोटी से छोटी गलती नहीं करना चाहती है, मित्रों अगर यह चुनाव भेज[प् हार गई तो आप यह भी कह सकते है की यह चुना भाजपा नहीं देश भर के १०० करोड़ हिन्दू हारेंगे !

Via Google

मित्रो अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो कृपया इसे अधिक से अधिक शेयर करना न भूले व् हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *