उत्तर प्रदेश के अमेठी में राहुल को सता रहा है पराजित होने का डर, इसलिए सिर्फ तीन सीटों से लड़ेंगे चुनाव। …

आपके अपने वेब पोर्टल ड्रेस प्लेनेट में हार्दिक सवागत है, मित्रों वर्तमान समय में पुरे देश में 2019 लोक सभा चुनाव को लेकर हर पार्टी की और से जोर शोर की और तैयारियां चल रही है, हर पार्टी अपनी और से पूरा जोर शोर लगाकार चुनाव की तैयारी कर रही है, हर पार्टी के नेता एक दूसरे पर आरोप लगा रहे है और प्रत्याशियों को भी अपनी और खींचने का पूरा प्रयास भी कर रही है, व्ही सभी पार्टिया गठबंठन का दिखावा कर मोदी को हारने के लिए साथ आने का नाटक कर रही है, इसके अलावा पार्टिया वोटरों को अपनी पार्टी के प्रति लुभाने में कोई कमी कसर भी नहीं छोड़ रही है, ऐसे में राजनीती का पूरा माहोल भी बहुत ही गरम चल रहा है, हर राज्य में सभी पार्टियाँ गठबंधान कर रही है जिससे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी बहुत ही दुविधा में फंस गए है, उन्हें समझ नहीं आ रहा की क्या करे !

मित्रो यहां हम आपको बताना चाहते है की इस बार राहुल गाँधी को अमेठी से हार का डर सता रहा है, और यही कारण है कि इस बार राहुल गाँधी ने अमेठी के साथ साथ दो और भी लोक सभा चुनाव से लड़ने का निर्णय लिया है, सूत्रों के अनुसार राहुल गाँधी अमेठी के अलावा महाराष्ट्र के नादेड और मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से भी अपनी किस्मत आज़मा सकते है, और इन दोनों ही सीटो को कांग्रेस के गढ़ के रूप में भी जाना जाता है, आपको बता दे कि छिंदवाडा का प्रतिनिधित्व कई सालो से कमलनाथ करते आ रहे है, और कमलनाथ इस समय मध्यप्रदेश के मुख्य मंत्री है, इस समय देशभर में मोदी पार्टिया गठबंद बना रही है !

और नांदेड महाराष्ट्र के पूर्व मुख्य मंत्री अशोक चह्वाण का संसदीय क्षेत्र है, और कांग्रेस हमेशा वहन से विजई होती रही है, मित्रो आपको बता दे हमेशा से रायबरेली और अमेठी से लगातार गाँधी परिवार का ही सदस्य चुनाव जीतता आ रहा है, और इन दोनों सीटो को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है, लेकिन हाल ही में आए  एग्जिट पोल के अनुसार इस सीट पर बार भाजपा की सरकार बनती दिखाई दे रही है, लेकिन फिर भी उन्हें यहाँ से हार का डर सता रहा है, कहा जा रहा है इसके पीछे 2014 के चुनाव में राहुल गाँधी के विरुद्ध स्मृति इरानी को उतारा गया था, लेकिन मात्र 15 दिनों में ही उन्होंने वहां की फिजा बदल दी थी, और वोट का अंतर मात्र एक लाख का हो गया था !!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *